E Uparjan Jharkhand 2024: Farmer id, Registration,List and login

E Uparjan Jharkhand पोर्टल को राज्य के किसानों के लिए शुरू किया गया है। जिसमें राज्य के अलग-अलग क्षेत्रो से सरकार द्वारा धान ख़रीदी जाती है। यदि आप एक किसान है और धान को अच्छी कीमत में बेचना चाहते है? तो फिर MSP सेण्टर में धान को बेचना एक अच्छा विकल्प है। जिससे लॉकल बाज़ार से अधिक कीमत में भारी मात्रा में बेच सकते है। So, इस पोस्ट में E-उपार्जन झारखण्ड की स्कीम और कार्य प्रणाली की जानकारी दी गयी है।

E Uparjana Jharkhand Portal 2024

StateJharkhand
Department byDept. of food, public distribution & consumer affairs
BeneficiaryFarmers
RequiredRegistration
CategoryAgriculture
Official site (URL)uparjan.jharkhand.gov.in

E Uparjan Jharkhand क्या है?

झारखण्ड सरकार ने किसानों के लिए ‘E Uparjan Jharkhand’ पोर्टल को जारी किया है। ताकि झारखण्ड स्टेट के सभी किसान उचित कीमत (Price) में धान की विक्री कर सके। चूँकि,इसमें झारखण्ड स्टेट के अलग-अलग क्षेत्रों से धान को प्रखंड के लैम्पस के माध्यम से खरीदारी का कार्य पूरा किया जाता है। लेकिन धान को अच्छी कीमत में लैम्पस केंद्र में बेचने के लिए पहले किसानों को पंजीकरण करना होगा। इस कार्य को ऑनलाइन भी “ई-उपार्जन झारखण्ड” के पोर्टल से कर सकते है।

झारखण्ड राज्य का बीपीएल (BPL) सूची देखें।

किसान का Registration कैसे करे?

यदि कोई किसान E उपार्जन के माध्यम से धान बेचना चाहता है तो उसे पहले पंजीयन करना होगा। जिसमें किसान को Farmer ID उपलब्ध करा दिया जाता है। अगर किसान पंजीकरण करना चाहते है,तो निम्न कुछ आसान स्टेप को फॉलो करके आसानी से कर पायेंगें-

  1. सबसे पहले E Uparjan Jharkhand के Official वेबसाइट के Registration लिंक को खोलें- https://uparjan.jharkhand.gov.in/FarmerSelfRegistration.aspx
  2. District (जिला) नाम को चयन करना है।
  3. फिर,Name,Mobile No और Aadhaar No. को भरे।
  4. पासवर्ड और ‘Conform Password’ को डालना है।
e uparjan Jharkhand farmer registration
e uparjan Jharkhand farmer registration
  1. I Agree के बॉक्स में Check Mark लगाएं और “Submit” पर क्लिक करे।
  2. इसके बाद लॉगिन कर लें और Details बटन पर क्लिक करे।
  3. फिर,दो विकल्प दिखाई देगा- Fill Details और Land Details
  4. Fill Details के सभी विवरण को भरने के बाद Submit पर क्लिक करे। इसके बाद Framer ID मिलेगा। (नोट: फार्मर आईडी को नोट कर लें)
  5. अब,अंतिम में Land Details को भर लें और “Update” पर क्लिक करे।

Suggestion: मोबाइल नंबर हमेशा चालू वाला नंबर ही आवेदन फॉर्म में डालें क्योंकि इससे सभी सूचना को पा सकते है।

इसके योजना के पूरी प्रक्रिया क्या है?

यदि आप सरकार के इस पहल का लाभ लेने चाहते है तो उसे इसके Process को पूरा करना होगा। उसके बाद ही लाभ मिल सकता है। कुछ महत्तपूर्ण बिंदु जिन्हें पूरा करना होगा जो निम्न है-

  • किसान के पास धान उचित मात्रा में उपलब्ध हो।
  • किसान को उपार्जन में पंजीयन करना होगा।
  • ज़मीन के विवरण और धान के उत्पाद के विवरण देना होगा।
  • रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर में SMS भेजा जाएगा।
  • धान के सैंपल को केंद्र में दिखना है ताकि Quality जाँच की जा सके।
  • किसान को धान केंद्र या लैम्पस पर जमा करना होगा।
  • धान बेचने के बाद किसान को रसीद दी जाएगी।
  • सात दिनों के अंदर किसान के बैंक अकाउंट पर भुगतान कर दिया जायेगा।

E Uparjan खरीदारी से किसानों को लाभ-

इस योजना के तहत सभी किसानों को निम्न लाभ मिलता है –

  • किसान को अधिक दाम धान का मिलता है।
  • अधिक मात्रा में किसान धान को बेच सकते है।
  • बाजार के दुकानों से अधिक कीमत मिलना।
  • आसानी से धान की विक्री करना।
  • कुछ दिनों पश्चात ही पूरी भुगतान।

E Uparjan Jharkhand Farmers ID List check

यदि आप किसी किसान का नाम और “Farmers ID” देखना चाहते है तो आसानी से कुछ ही स्टेप को फॉलो कर देख सकते है-

  1. सबसे पहले E -Uparjan Jharkhand के साइट के ‘Farmer List’ पर जाएँ- https://uparjan.jharkhand.gov.in/village_wise_farmer.aspx
  2. फिर, जिला,ब्लॉक,पंचायत और गांव का नाम को सेलेक्ट करे।
  3. अब, “खोजें” पर क्लिक करे। इसके बाद सभी किसान के नाम और ID दिखाई देगा।
  4. फार्मर आईडी नंबर को नोट कर लें। ताकि जरूरत पड़ने पर इसका उपयोग किया जा सके।
Farmer id on uparjan.jharkhand.gov.in
Farmer id list

किसान का भुगतान विवरण कैसे देखें?

अगर कोई किसान धान का विक्री धान केंद्र में कर चूका है। और पैसे के भुगतान विवरण देखना चाहता है। तो e-Uparjan के पोर्टल से भी देख सकता है। देखने के लिए निम्न कुछ स्टेप को फॉलो करे-

1. पहले Official साइट के ‘भुगतान देखें‘ वेब पेज को Open करे।

2. किसान के Farmers ID को भरें और आधार नंबर के अंतिम चार संख्या को डाले।

3. इसके बाद रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर को डाले तथा “खोजें” पर क्लिक करें।

4. Farmer id नंबर पर क्लिक करना है,अब सभी विवरण और पेमेंट Details देख सकते है।

मोबाइल नंबर कैसे बदलें?

अगर कोई किसान मोबाइल नंबर बदलना चाहता है तो निम्न स्टेप को फॉलो करके मोबाइल नंबर को बदल सकता है-

  1. पहले ई- उपार्जन के इस लिंक को खोलें- https://uparjan.jharkhand.gov.in/MobileUpdate.aspx
  2. और Farmer ID को भरें। फिर, Find पर क्लिक करें।
  3. Farmer का नाम और पहले से रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर दिखाई देगा।
  4. Edit पर क्लिक करें। इसके बाद पहले से पंजीकृत मोबाइल नंबर में OTP आएगा।
  5. “New Mobile Number” और “OTP” को डालें।
  6. और “Update” बटन पर क्लिक करें।

झारखण्ड वृद्धा पेंशन फॉर्म भरे।

How to Login on e Uparjan Portal?

  • Official Site के इस लिंक को खोलें- https://uparjan.jharkhand.gov.in/FarmerLogin.aspx
  • इसके बाद ‘Mobile No’ या ‘Email ID’ को डालें।
  • पासवर्ड को डालें। जो पंजीयन के समय बनाया गया है।
  • सही Captcha कोड को भरें और login पर क्लिक करें।
E Uparjan Jharkhand Kisan Login

पासवर्ड भूल जाने पर Password Reset करे-

1. सर्वप्रथम उपार्जन झारखण्ड साइट की Forget Password पेज में जाएँ।

2. User Type में Miller / MSP Center में से चयन करे। इनमें से जिसका आपके पास लॉगिन आईडी हो।

3. जिला नाम और Select User के विकल्प में सेलेक्ट कर लें तथा ‘Submit’ बटन पर क्लिक करे।

4. इसके बाद रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर में ‘OTP’ आएगा उसे डाले।

5. नया पासवर्ड बना लें और कन्फर्म पासवर्ड करे तथा “Submit” पर क्लिक करे।

पंजीकृत किसान का विवरण निकालें-

यदि किसान रजिस्ट्रेशन कर लिया है तो उसका सभी आवश्यक डिटेल्स जैसे- नाम,पिता का नाम,पता,हल्का नंबर,रजिस्ट्रेशन तिथि,मोबाइल नंबर,MSP सेण्टर और Payment Details आदि विवरण देख सकते है। इसके लिए भुगतान देखने के प्रक्रिया को ही फॉलो करना होगा। चूँकि, पहले ही ऊपर के प्राग्राफ में उल्लेख (Mention) किया गया है।

लैम्पस से सम्पर्क कैसे करे?

अगर आप लैम्पस के हैड से कुछ सवाल पूछना चाहते या फिर नया जानकारी पाना हो,तो नजदीक के लैम्प्स में जाएँ। इसके अलावा ऑनलाइन लैम्प्स प्रबंधक के मोबाइल नंबर भी जान सकते है। इसके लिए नीचे दिए गए स्टेप को फॉलो करना होगा-

  1. पहले झारखण्ड उपार्जन साइट के इस लिंक पर जाएँ-https://uparjan.jharkhand.gov.in/ContactUs.aspx
  2. फिर, जिला को चुन लें। इसके बाद सभी MSP सेंटर के Head का नाम और मोबाइल नंबर भी दिखाई देगा।

मोबाइल ऐप डाउनलोड तथा इनस्टॉल प्रक्रिया

विभाग ने यूजरों के सुविधा के लिए मोबाइल ऐप भी डाउनलोड फ्री में कर सकते है। इसके लिए प्ले स्टोर से ‘Bazaar‘ नाम के ऐप को डाउनलोड कर लेना है और इनस्टॉल कर उपयोग कर पायेंगें।

How To: ई-उपार्जन झारखण्ड (Short Q&A)

  1. Q. MSP सेण्टर के पासवर्ड को बदला कैसे जाता है या रिसेट प्रक्रिया?

    पासवर्ड बदलना हो या फिर Password Reset करने के लिए पहले अपने DSO ऑफिसर से संपर्क करना होगा।

  2. किसान ऑनलाइन पंजीकरण कहाँ से कर सकते है?

    किसान का पंजीकरण ‘E Uparjan’ की पोर्टल और ‘Bazaar App’ की मदत से ऑनलाइन किया जा सकता है।

Farmer RegistrationRegistration | Login
Farmers ListGet Here
Official WebsiteOpen

FAQs for E Uparjan Jharkhand Portal 2024

Q. क्या किसान का पंजीयन अनिवार्य है?

हाँ, किसान को पंजीयन करना होगा। और पंजीकृत मोबाइल नंबर में SMS में माध्यम से किसान को सूचित किया जाता है।

Q. यदि किसी किसान का मोबाइल में SMS नहीं आएगा तो क्या करे?

यदि किसान को SMS नहीं आता है तो उसे नजदीक के धान केंद्र से सम्पर्क कर जानकारी प्राप्त कर लेना चाहिए।

Q. MSP का Full Form क्या होता है?

MSP का फुल फॉर्म ‘Minimum Support Price’ होता है।

Q. किसी का मोबाइल नंबर खो गया या सर्विस से बाहर है तो क्या करे?

यदि किसी कारण से किसान रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर सर्विस से बाहर है। उसे मोबाइल नंबर को बदलना होगा। But, ऑनलाइन बदलने के लिए OTP Verify करना होगा।

Q. धान को लैम्पस केंद्र ले जाने से पहले क्या करना चाहिए?

अपने धान को धान केंद्र में ले जाने से पहले वहां के अधिकारियों से बात कर लें। इसके बाद ही धान को लें जाएँ।

Q. क्या लैम्पस केंद्र सिर्फ ब्लॉक में ही मौजूद है?

नहीं, लैम्पस केंद्र को ब्लॉक के अलावा विभिन्न पंचायतों में शुरू किया गया है। जिससे लाभ सभी किसानों को प्राप्त होगा।

Q. पोर्टल में किसान और उपार्जन पंजीकरण में क्या अंतर है?

उपार्जन पंजीकरण किसान छोड़ के अन्य अधिकारी,एजेंसी,कर्मचारी आदि के लिए है।

Q. क्या लैम्पस में सिर्फ गोदाम कमरा ही होता है?

नहीं, धान केंद्र में गोदाम रूम के अलावा ऑफिस कमरा भी मौजूद होता है। जिसमें गोदाम निरीक्षक एवं अन्य अधिकारी बैठते हैं।

Q. ज़मीन का विवरण देना आवश्यक क्यों?

क्योंकि यह Scheme केवल किसानों के लिए है। चूँकि,हर किसान के पास खेती करने हेतु जमींन मौजूद होता है। इसलिए धान की उपज की गयी भूमि का डिटेल्स सबमिट करना होगा।

Leave a Comment