Pradhan Mantri Awas Yojana Gramin List 2023, pmayg.nic.in

(PMAYG) प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण (Pradhan Mantri Awas Yojana Gramin) की शुरुआत 2015 में किया गया है। जो मुख्य रूप से ग्रामीण क्षेत्र में निवास कर रहे आम लोगों के लिए है। इस योजना के तहत लाभार्थी को आवास बनाने हेतू सरकार की तरफ से 1,30,000 रुपये दिया जाता है। इसके आलावा अलग से लेबर चार्ज राशि भी लाभुक परिवार को प्राप्त होता है। इस पोस्ट में प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण 2023 की जानकारियां दी गयी है। जिसका लाभ केवल ग्रामीण क्षेत्रो में जीवन-यापन कर रहे गरीब परिवारों को मिलता है।

Pradhan Mantri Awas Yojana Gramin (PMAYG) 2023

स्कीमप्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण
विभागग्रामीण विकास मंत्रालय,भारत सरकार
सहायता राशि1,30,000 रु०+Labour Payment
शुरुआत वर्ष2015
सेक्टरRural Area
Official site URLpmayg.nic.in

प्रधानमंत्री आवास योज़ना ग्रामीण (PMAYG) क्या है? 

इस योजना का शुरुआत भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के सरकार के समय शुरू किया गया। इस स्कीम के तहत ग्रामीण क्षेत्रो में रहने वाले, वैसे परिवार जो पक्का मकान बनाने में असमर्थ हैं। ऐसे परिवार को पक्का मकान निर्माण के लिए सरकार के तरफ से सहायता राशि दी जाती है। जिसमें परिवार के जिस सदस्य के नाम से मकान आया हो उसके बैंक खाते में सीधे पैसे भेजा जाता है। इस योजना को ग्रामीण क्षेत्रों में अन्य नाम से भी जाना जाता है जैसे- PM-आवास, मोदी आवास आदि।

 प्रधानमंत्री सम्मान निधि योजना लिस्ट देखें।

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के लिए योग्यता क्या है? 

PM आवास योजना ग्रामीण के लाभ वैसे परिवार को मिल सकता है जो निम्न योग्यता को पूरा करता हो –

  • जिस परिवार के पास राशन कार्ड और BPL कार्ड हो।
  • परिवार के पास पहले से ही पक्का मकान नहीं होना चाहिए।
  • परिवार गरीब रेखा से निचे नीचे आता हो। जो पक्का मकान बनाने में असमर्थ हो।
  • फैमिली का कोई भी सदस्य सरकारी विभाग में कार्यरत न हो।

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के लाभार्थी लिस्ट-

  1. सबसे पहले PMAY-G के ऑफिसियल iay.nic.in साइट पर जाएँ- Get Here
  2. राज्य, जिला, ब्लॉक और पंचायत नाम को चुनें।
  3. सिक्योरिटी नंबर को भरें और ‘Submit’ पर क्लिक करें।
  4. इसके बाद सारा लिस्ट दिखाई देगा,जिसमें नाम खोजें।
  5. यदि लिस्ट को डाउनलोड करना चाहते है तो डाउनलोड भी कर सकते हैं जिसमें दो Format में डाउनलोड कर सकते है- PDF और Excel में।
pmayg.nic.in

नोट: अगर कंप्यूटर / लैपटॉप से चेक कर रहे हैं तो CTRL+F दबाएं। जिससे सर्च बॉक्स शो होगा और सर्च बॉक्स नाम लिख कर खोजें। ऐसा करने से तुंरत लाभुक का नाम पा सकते है। यदि वेबसाइट सही से काम न करे तो कुछ समय बाद कोशिश करे।

PMAYG का Status कैसे देखें?

यदि लिस्ट में किसी का नाम मौजूद है और प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण Status देखना है जैसे- पैसा आए हुए का विवरण, फोटो और अन्य विवरण। तो देखने के लिए ये स्टेप फॉलो करें-

  • सबसे पहले लिस्ट में नाम खोज लें और Registration No. है उस पर क्लिक करें।
  • इसके बाद सभी विवरण देख पायेंगें जैसे- Personal Details, Bank Details, Beneficiary Details, Photo एवं अन्य विवरण।

नोट: इसमें वैसे ही लाभार्थी का विवरण शो होगा जिनके नाम से आवास मिला हो। अधिक जानकारी के लिए अपने ग्राम सेवक से भी इस बारे में पूछ सकते है।

प्रधानमंत्री आवास योजना प्रकार

प्रधानमंत्री आवास योजना को क्षेत्र के अनुसार दो भागो में बांटा गया है। जिस क्षेत्र से लाभार्थी का सबंध है उसे उसी योजना के आधार पर राशि दी जाएगी।

  • (a) प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण  
  • (b) प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी 

(a) प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण: इस योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्रो में निवास करने वाले परिवार के लिए है जिनके पास पक्का मकान नहीं है और पक्का मकान खुद के पैसे से बनाने में असमर्थ हैं। वैसे परिवार को सरकार को सरकार के तरफ से पैसे दिए जाते है ताकि पक्का मकान बना सके। 

(b) प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी: इस योजना के तहत शहरी क्षेत्रो में रहने वाले गरीब परिवार जिसके पास खुद का कोई पक्का घर नहीं हो। वैसे परिवार को खुद का घर बना सके इसलिए सरकार के तरफ से परिवार को मदत के रूप में पैसे दिया जाता है ताकि खुद का घर बना कर रह सके। वैसे तो शहर में चारो और बड़ी – बड़ी घर मौजूद होता है। But, हर शहर में वैसे भी परिवार होते है जिनके पास खुद का घर भी नहीं होता है। और यदि है तो भी कच्चा मकान होता है। इस समस्या को दूर करने के लिए सरकार द्वारा शहरी क्षेत्रो में भी योजना को लागू किया गया।

 आहार पोर्टल झारखण्ड के उपयोग क्या है।

राशि भुगतान का क्या प्रक्रिया है? 

जब प्रधानमंत्रीआवास योजना ग्रामीण लिस्ट में नाम मौजूद है तो पैसे भी कुछ दिनों के बाद ही आ जायेगा। आप ऊपर बताये गए तरीके Status चेक से देख सकते है पैसा खाते में आया है की नहीं। खाते में पैसा डालने के बाद ही वेबसाइट में इसे अपडेट किया जाता है। जिसे आसानी से देख सकते हैं। पहला क़िस्त खाते में आ जाने बाद उस पैसे का उपयोग मकान बनाने में किया गया की इसका सबूत दिखना पड़ता है। पहला क़िस्त में मिले पैसे से जितना भी घर बनाने का कार्य हुई है, उसका फोटो खींच कर सबंधित विभाग में भेजा जाता है।

यदि कोई सबूत किये गए कार्य का नहीं देता है तो दूसरी क़िस्त उसका रोक दी जाती है। यदि किसी के खाते में पैसे आ गए है दूसरी क़िस्त का तो उस पैसे का निकासी नहीं कर पायेगा। जब तक मकान बनाये गए शुरुआत को नहीं दिखाया जाता है तब तक बैंक द्वारा खाता लॉक किया जाता है। ये लॉक तब तक नहीं खुलता है जब तक ब्लॉक के उस विभाग के अधिकारी द्वारा अनुमति नहीं मिल जाती है।

क़िस्त राशि 
पहला क़िस्त40,000/-
दूसरी क़िस्त85,000/-
तीसरी क़िस्त5,000/-
कुल क़िस्त 1,30,000/-
नोट: ये क़िस्त प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के द्वारा मिलने वाला राशि का विवरण है। इसमें लेबर पेमेंट को शामिल नहीं किया गया है।

Check Payment Rejected by Bank

  1. फर्स्ट, ऑफिसियल वेबसाइट के इस लिंक पर जाएँ- /Click Here/
  2. Installment को सेलेक्ट करे और योजना नाम को भी चुन लें।
  3. इसके बाद राज्य,जिला,ब्लॉक आदि को चुनें।
  4. Answer नंबर को बॉक्स में डालें और “Submit” पर क्लिक करे।
  5. Then, यदि PDF या Excel फाइल में डाउनलोड करना चाहते है,तो डाउनलोड कर सकते है।

पीएम किसान आवेदन स्थिति।

लेबर पेमेंट चेक कैसे करे?

1. पहले NREGA के वेबसाइट में जाएँ- https://nrega.nic.in/stHome.aspx

2. फिर,अपना राज्य नाम,जिला,ब्लॉक और पंचायत नाम को सेलेक्ट करे एक एक करके।

3. “Consoliodate Report of Payment to Worker” लिखे लिंक पर क्लिक करे।

4. अब,सभी लाभार्थी का विवरण दिखाई देगा। नाम को ढूंढें और ‘Work Name (Work Code)’ पर क्लिक करना है।

लेबर पेमेंट का लाभ कैसे लें?

यदि आपको प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत मजदूरी की पैसे नहीं मिला है। तो ऐसे स्थिति में आप अपने क्षेत्र के आवास निर्माण के देख-रेख करने वाले अधिकारी से पूछ सकते है। आवास योजना ग्रामीण के तहत 15-20 रूपए तक दिया जाता है। जिसे नरेगा (NREGA) की वेबसाइट पर चेक कर सकते हो। लेबर पेमेंट में लाभुक यानि की जिसके नाम पर आवास मिला है उसके अलावा अन्य सदस्य या मजदुर के नाम-डिटेल्स प्रदान कर भी लेबर भुगतान को प्राप्त कर सकते है।

विभाग के सम्पर्क विवरण

  • PMAYG (Technical Helpline Toll Free Number): 1800-11-6446
  • Mail ID (PMAYG): support-pmayg@gov.in
  • PFMS (Technical Helpline Toll Free Number): 1800-11-8111
  • Mail ID (PFMS): helpdesk-pfms@gov.in
PMAYG लिस्ट देखेंGet Here
Official WebsiteGet Here

Pradhan Mantri Awas Yojana Gramin (PMAYG) से Related FAQs:

Q. बैंक खाता लॉक हुआ हो तो Open कैसे करे? 

यदि किसी किसान का बैंक खाता में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत राशि मिली हो। और उसके बैंक खाते को लॉक किया गया हो तो सबसे पहले आपके मकान बनाये गए कार्य को फोटो खींच कर सबंधित विभाग को सूचित करे। 

Q. क्या शहरी और ग्रामीण क्षेत्रो के लिए अलग़-अलग राशि निर्धारित है? 

हाँ, शहरी क्षेत्रो में अधिक महंगाई के कारण अधिक राशि देने का प्रावधान रखा गया है।

Q. क्या एक ही परिवार के दो सदस्य को मिल सकता है

यदि परिवार एक साथ रहते है तो नहीं मिलेगा। और अगर परिवार से अलग हुए हैं तो मिल सकता है।

Q. आवेदन ऑनलाइन या ऑफलाइन करना होगा?

फ़िलहाल तो ग्रामीण वाले योजना में आवेदन ऑफलाइन कर सकते है। किसी भी प्रकार के समस्या हो तो ग्राम सेवक और ब्लॉक से सम्पर्क करे।

Q. आवास योजना में लेबर पेमेंट क्या है?

आवास निर्माण के प्रक्रिया में लगे मजदूरों के मजदूरी का पैसे लेबर पेमेंट द्वारा दिया जाता है। जो लाभार्थी के बैंक खाते में राशि दी जाती है।

Q. लेबर भुगतान विवरण कहाँ से देखें?

लेबर भुगतान विवरण नरेगा कि वेबसाइट की मदत से चेक कर पायेंगें।

Q. लेबर पेमेंट राशि कितनी मिलती है?

ग्रामीण एरिया के आवास लाभार्थी को लगभग 20,000/- तक राशि दी जाती है। जिसे जॉब कार्ड में भी पेमेंट विवरण को दर्शाया जाता है।

Q. PMAYID कितनी संख्या की होती है?

PMAY-ID सामान्यतः सात अंकों की यूनिक नंबर होती है।

Q. आवास जल्दी नहीं बनाने के स्थिति में क्या होता है?

ऐसे स्थिति में विभाग तरफ से लाभुक परिवार को नोटिस घर भेजा जाता है। जिसमें आवास को जल्दी तैयार करने के लिए चेतावनी दी जाती है।

Q. PMAY-G ePayment डैशबोर्ड में लॉगिन कौन कर सकता है?

इसमें NIC/PFMS/RD,State और Bank ही लॉगिन कर पायेंगें।

Leave a Comment